Welcome to Department of Sanskrit

होल्कर रियासत में प्रारम्भ से ही संस्कृत का गौरवशाली इतिहास अध्ययन-अध्यापन की प्राचीन पद्धति (शास्त्रार्थ , मूल ग्रंथो के पठन - पाठन , स्मरण आदि ) के सरक्षण और संवर्धन की परंपरा रही। उस काल में से विद्यार्थीयों की संस्कृत के प्रति विशेष रूचि रहती थी ,इसी का प्रभाव रहा की जब 1891 में होल्कर कॉलेज की स्थापना हुई तब प्राथमिक आठ विषयों में संस्कृत विषय भी शीर्ष पर था। यहां संस्कृत इंटरमीडिएट से प्रारम्भ हुआ। 1961 में सर्वप्रथम विभागाध्यक्ष डॉ. राजीव लोचन अग्निहोत्री रहे ,उनके बाद क्रमशः डॉ. रेवा प्रसाद द्धिवेदी ,डॉ. कृष्णशास्त्री कानिटकर ,डॉ. भरत प्रसाद त्रिपाठी ,डॉ. सीताराम दात्रे ,डॉ. पुष्पा झा ,डॉ. विमला विजयवर्गीय तथा डॉ. संगीता मेहता ने विभागाध्यक्ष के दायित्व का निर्वाह किया। उपर्युक्त विभागाध्यक्षों के अतिरिक्त यहां पर अनेक प्रतिभाशाली सहायकं प्राध्यापक भी रहे है। उनमे वेद तथा नाट्यशास्त्र वेत्ता डॉ. बाबूलाल शुक्ल ,डॉ. शोभा जैन,,डॉ. अर्चना जोशीं तथा डॉ. विनोद शर्मा के नाम उल्लेखनीय है। वर्तमान में डॉ. नलिनी जोशी संस्कृत विभाग में विभागाध्यक्ष है।



© 2019 Shri Atal Bihari Vajpayee Govt. Arts & Commerce College, Indore. All Rights Reserved.

: